सांसें

उन खामोशियों पे

दिल हारती चली गयी…

शब्द क्या कह पाते

जो तुम्हारी सांसें

बयाँ कर गयीं…