सिलवटें

रेत की तरह ज़िंदगी हाथों से निकलती चली जाती है हम तो बस किस्से हैं दबे कहीं सिलवटों में इसकी

Read More

तेरी याद में…

आज भी तेरी याद में तुझे खत लिखा करते हैं डरते हैं तुझे भेजने से तो खुद ही पढ़ लिया करते हैं

Read More

निगाहों में जिनकी हम…

ग़म तो जनाबइस बात का है कीनिगाहों में जिनकी हमताउम्र रहना चाहते थेउन्हें नज़रों से गिरने मेंज़्यादा वक़्त न लगाहम सपने बुनते रह गएऔर वो दबे पाओं दग़ा दे गए

Read More

पलटवार

यूँ बिन बताए आधी रात आनासब जान चुके हैंपरेशान हो चुके हैंअब शांत हो चुके हैंयूँ खिड़की से सीटियां मारनासब जान चुके हैंपरेशान हो चुके हैंअब हार चुके हैंवक़्त का खेल तो देखोकिस्मत पलटवार कर गयीअब जो जा चुकी हो तो सुनोख्यालों मेंयूँ बिन बताए न आया करोभूला चुका हूँ मैंहार चुका हूँ मैंयूँ दिलोदिमाग…

Read More

जो दास्ताँ…

जो दास्ताँ जुबां पर हैवह उन्हें बताते कैसेकहते भी तो क्यावो अपनाते उन्हेंगैरों के बीच जोरातें काटी हमनेउनके चौखट परअजनबी का दर्जान गवारा था हमेंज़िन्दगी बीत गयीदो पल की दिल्लगीके आस मेंऔर जो दास्ताँ जुबां पर थीबरसों हुए उन्हें भुलाये हमें

Read More

तन्हाई

तन्हाइयों की शिकायत करें भी तो कैसे इन्होंने ता उम्र अपनों की तरह साथ निभाया है

Read More

दिलासा

शाम को जबपंछी घर लौटते हैंउन्हें देख दिल कोदिलासा दे देते हैंमेरा आंगन न सहीकिसीकी तो बगियाआज रोशन हुई

Read More

सांसें

उन खामोशियों पे दिल हारती चली गयी… शब्द क्या कह पाते जो तुम्हारी सांसें बयाँ कर गयीं…

Read More

ऐ जिंदगी…

पल दो पल ठहरकर कभी हमें भी तो देख जिंदगी तेरी मीठी शरारतों में घुलना बाकी है अभी… पल दो पल पलटकर कभी हमें भी तो देख जिंदगी तेरी नमकीन मस्तियों को चखना बाकी है अभी… पल दो पल मुस्कुराकर कभी हमें भी तो देख जिंदगी तेरी हसीन मधोशियों में बिखरना बाकी है अभी…

Read More

आज रात फिर …

आज रात फिरदरवाजे परतुम्हारी यादोंने दस्तक दीघंटों वे ठहरे रहेकी कब हम उन्हेंभीतर लें, बतियाएंसारी रातचारपाई से लिपटेहमने उन्हें अनसूना कियासारी उम्रइन यादों नेआंखें नम ही तो की हैं

Read More

Words – Micropoetry

these words they could teach us to make love or start wars never known a magic so potent * * * * * #badbookthiefpoetry Find a whole bunch of my pieces on Instagram. Just visit the link below.

Read More

Dead – Micropoetry

some water plants when they are buds some water them after they are dead * * * * * #badbookthiefpoetry Find a whole bunch of my pieces on Instagram. Just visit the link below.

Read More

tell me otherwise…

on some days when the moon is hiding behind a cloud I see you through its eyes and I feel your gaze upon me on those nights I find your smell lingering in the corners of my bed when I climb in they hug me until I fall asleep you may deny it wasn’t love…

Read More

कभी तो ऐसा हो …

कभी तो ऐसा होमैं कुछ न कहूँऔर तुम सुन लोमैं नज़रें चुराऊँऔर तुम देख लोमैं उम्मीदें छुपाऊँऔर तुम जान लोमैं हसरतें मिटाऊंऔर तुम पढ़ लोकभी तो ऐसा होमैं खुदको रोकूंऔर तुम पहचान लोमैं कतरा बिखरुंऔर तुम थाम लो

Read More

maybe that’s why…

a piece of your heart is lost in the crevices of this heart of mine maybe that’s why I know you’re missing me wanting to hold me to caress my lips to drape your body over mine like a creeper vein running up a wall maybe that’s why I know you shed a silent tear…

Read More

You were my drug…

you were my drug the one I was bare without the one I couldn’t stop craving and even though I knew you were drowning me I held on to you like a ship does for anchor you were my drug the one I couldn’t live without the one couldn’t breathe without and even though you…

Read More

नासमझी…

इश्क़ कुछ इस कदर हुआ उनसेउनकी गलतियां अपनी लगने लगींउनकी खामियां अच्छी लगने लगींउनकी नासमझी की हद तो देखियेवह हमें हीदोषी करार करअनजानों की तरहछोड़ चले ~~~~~ आशा सेठ

Read More

My First Attempt at NaNoWriMo

Hello, dear reader! How have you been? It’s been long we spoke. Tell me all of what’s happening with you. If not all, at least give me bits. What was October like? What did you do? Did you read much? How was Halloween? There is so much I want to know about you. Maybe, because…

Read More

It’s a shame…

It’s a shame

that i want more of you

always more

so much more

like a hungry wolf

Read More

Silences – Micropoetry

don’t speak of me to the world think of me in the silences between your words * * * * * #badbookthiefpoetry Find a whole bunch of my pieces on Instagram. Just visit the link below. Happy writing till we meet next. Until then, carpe diem! 🙂 *******

Read More